वरमाला के दौरान दूल्हे ने तोड़ दी शादी, फिर साले की बीवी के साथ ले लिए 7 फेरे- जानें पूरा मामला

दोस्तों शादियों का सीजन वापस से शुरू हो चुका है । इस बार के शादी के सीजन मे जो कोरोना के कारण शादी में कमियां होती थी वो इस सीजन में पूरी हो रही है ।

लेकिन दोस्तो शादी के  साथ एक अभिशाप जो सदियों चला आ रहा है  वो अभी भी चल रहा है  , जी हाँ दोस्तो आपने सही समझा हम बात कर रहे है दहेज की जो कि आज भी अभिशाप बनकर लोगो के ज़िंदगी बर्बाद कर रहा है  । दहेज से संबंधित एक ऐसा मामला सीकर जिले में सुनने के लिये आया है  जिसको जानने के बाद आप यही कहेगे की दहेज  के करण इंसान को क्या – क्या नहीं करना पड़ रहा है।

दोस्तो असल में सीकर जिले में शादी हो रही थी लेकिन शादी होने ठीक पहले दूल्हा ने कार की मांग रख दी , अब बिचारे दुल्हन वालो ने दूल्हे वालो से कहा  कि इतनी जल्दी हम कार कहा से लेकर आयेंगे लेकिन दूल्हे वाले ने माने और बिना शादी कराया ही बारात वापस ले गये।

 दुल्हन पक्ष के लोग इस घटना से बहुत  गुस्से में  थे जिसके बाद वो पुलिस स्टेशन दूल्हा पक्ष के खिलाफ  रिपोर्ट लिखाने गये लेकिन पुलिस के द्वारा रिपोर्ट ना लिखी गई।  असल में  मामला इसलिये ज़्यादा हाईलाइट हुआ क्योंकि इस मामले में संसद सुमेधानंद सरस्वती को दखल देना पड़ गया क्योंकि दूल्हे पक्ष के लोगो ने ऐसा काम कर दिया जिससे पूरे समाज  गुस्से में आ गया।

 दोस्तो जिस दूल्हे के शादी दुल्हन से होने जा रही थी   उस दूल्हे ने कार मांग शादी से मना कर दिया और  4 दिन बाद दुल्हन के भाई की होनी वाली बीवी से शादी भी कर ली। बात यही तक नहीं है दोस्तो जिस लड़की से दूल्हे ने शादी की है उसके दोनो भाइयों की शादी दूल्हे की बहन से होने जा रही है 

दोस्तो इस घटना के बाद से दुल्हन पक्ष ने जोरदार प्रदर्शन शुरू कर दिया जिसके बाद वो पुलिस पर गये लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया था । जब पुलिस ने इस मामले की कार्यवाही करने से मना कर दिया था तब स्थानीय नेता और जिला पंचायत प्रतिनिधि कानाराम जाट और ताराचंद धायल भी इस धरने प्रदर्शन में बैठे गये ।

 जब इस मामले की बात सांसद  सुमेधानंद सरस्वती  तक पहुचीं तो उन्होंने  पुलिस अधीक्षक से इस मामले की जांच कर कार्यवाही करने की मांग की । दोस्तो लेकिन विवाद यही नहीं थमा क्योंकि धरना प्रदर्शन पर बैठे लोगो ने 9 लोगो पर आरोप लागये की ये दूल्हा पक्ष है जिन्होंने दुल्हन पक्ष के लोगो धरना बंद करवाने की कोशिश की


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *